नहीं रुक रही अपराधिक घटनाएं, पुलिस फरमा रही आराम

Foto

अपराध के समाचार/crime news


रोहित रायल सिद्दीकी

फर्रुखाबाद। जनपद में दिनदहाड़े अपहरण, सट्टा व बीच बाजार तमंचा दिखा रौब दिखाना आम बात हो गई है। चुनाव का समय करीब होने व होली का पर्व आने के बावजूद पुलिस अफसर आपराधिक घटनाओं को रोकने में लगातार असफल साबित हो रहे हैं। पुलिस पर यह सवालिया निशान हम नहीं उठा रहे, बल्कि पिछले 24 घंटे के दौरान कैमरे में कैद हुई घटनाएं पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठा रही हैं। 

कोतवाली सदर के अंतर्गत शांतिनगर निवासी रामनरेश तिवारी की राशन कोटेदार की दुकान है। वह रोजाना की तरह शुक्रवार सुबह करीब 10ः30 बजे गांव चांदपुर स्थित दूसरे घर पर बनी राशन की दुकान पर गए हुए थे। इसके बाद कोटेदार रामनरेश की पत्नी करीब 1ः30 बजे दुकान पर लेकर पहुंची तो उन्हें वह गायब मिले और दुकान पर पति की चप्पलें, मोबाइल और चश्मा पड़ा देख उनके होश उड़ गए। उन्होंने आसपास के दुकानदारों से पूछताछ की लेकिन रामनरेश की कोई पुख्ता जानकारी नहीं मिल सकी। इसके बाद उन्होंने तुरंत घरवालों को मामले की सूचना दी। 


सूत्रों के अनुसार तकरीबन 11 बजे तीन नकाबपोश बदमाश दुकान के अंदर घुस गए। उनका किसी बात को लेकर रामनरेश से कहासुनी होने लगी। इसी बीच विवाद बढ़ गया और तीनों बदमाश कोटेदार को मारते हुए बाइक से जबरन उठा कर ले गए। मामले की सूचना रिश्तेदार गोयल तिवारी ने कोतवाली थाने में दी। कोटेदार के अपहरण की सूचना पुलिस महकमे में फैलते ही हड़कंप मच गया। आनन-फानन में सीओ सदर राम लखन सरोज कोतवाली थानाध्यक्ष रवि श्रीवास्तव के साथ घटनास्थल पर पहुंच आसपास पूछताछ कर खानापूर्ति करके वापस आ गए। वहीं तकरीबन 32 घंटे बीत जाने के बाद भी कोटेदार का सुराग लगा पाने में पुलिस असफल साबित हुई है। वहीं रामनरेश के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।


दूसरी घटना थाना नवाबगंज के अंतर्गत की है, जहां बीच बाजार सरेआम एक युवक तमंचा लहराकर आसपास मौजूद राहगीरों पर रौब दिखाता हुआ कैमरे में कैद हुआ है। वहीं, मार्केट में कोई अनहोनी न हो और लोगों की 24 घंटे सुरक्षा करने का दावा करने वाली पुलिस को इस बुलंद हौसले वाला बदमाश खुली चुनौती दे रहा है। 

तीसरा मामला थाना कोतवाली सदर का है, जहां खुलेआम सट्टे का धंधा फल फूल रहा है। दबंगों के हौसले इतने बुलंद हैं कि वह बकायदा किराए के एक कमरे में लिखा पढ़ी करके सट्टा लिखाते हैं, जहां एक दर्जन से अधिक लोग भी मौजूद हैं। जिले में लगातार बढ़ती वारदतों के कारण लोग अपने आप को सुरक्षित महसूस नहीं कर पा रहे हैं। लेकिन इन सब आपराधिक मामलों से हमारे जनपद की पुलिस आंखे बंद कर जनता के सुरक्षा के बड़े-बड़े दावे कर रही है। अब देखना यह होगा कि आने वाले लोकसभा चुनाव में क्या होता है।

 

यह भी पढ़ें:   पेड़ से टकराकर डीसीएम पलटी, 2 की मौत, 3 घायल

यह भी पढ़ें:   डिवाइडर से भिड़ी कार, एक की मौत दूसरे की हालत गंभीर 

leave a reply

राज्यों के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी