नाराज साधू संतों को मनाने के लिए योगी सरकार ने की ये घोषणा

Foto

राज्यों के समाचार/state news

लखनऊ। राम मंदिर निर्माण मे हो रही देरी से नाराज साधू संतों को मनाने के लिए प्रदेश की योगी सरकार ने बड़ी घोषणा कर दी है। सरकार अब साधू संतों को 500 रुपये महीने पेंशन देने की तैयारी कर रही है जल्द ही प्रदेश भर में इन्हे चिन्हित करने का काम भी शुरु हो जायेगा।

सपा सरकार में शुरु की गयी समाजवादी पेंशन योजना को बंद करने के बाद से कटघरे मे खडत्री बीजेपी सरकार ने लोकसभा चुनाव से ठीक पहले एक बार फिर से पेंशन योजना को शुरु करने की तैयारी कर ली है। इसमें सरकार दिव्यांगों,निराश्रित महिलाओं के साथ ही साधू संतों को भी पेंशन की श्रेणी में लायेगी। चिन्हित किये गये लोगों को हर माह पांच सौ रुपये पेंशन दी जायेगी।

शासन ने अधिकारियों को 30 जनवरी तक साधू संतों को चिन्हित करने के निर्देश दिये हैं। जिला प्रशासन इसके लिए जगह जगह कैंप लगाकर चिन्हिकरण का कार्य करेगा। ऐसा माना जा रहा है कि अयोध्या में राम मंदिर ना बनने से नाराज साधू संतों को मनाने के लिए योगी सरकार ने यह फैसला लिया है।

अयोध्या में राम मंदिर को लेकर पिछले एक साल से माहौल काफी गरम है और अभी हाल ही में पीएम मोदी के द्वारा अपने इंटरव्यू में मंदिर निर्माण को लेकर कहा था कि मामला कोर्ट में है और कोर्ट का फैसला आने के बाद ही सरकार इस पर कोई फैसला लेगी।

पीएम का बयान आने के बाद ये साफ हो गया कि सरकार मंदिर के लिए कोई अध्यादेश नही लाने वाली है जबकि देश भर के साधू संत केंद्र की मोदी सरकार से अध्यादेश लाकर मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त करने की मांग कर रहे थे।

वहीं सुप्रीम कोर्ट के द्वारा लगातार तारीख दिये जाने से भी संत समुदाय काफी नाराज है। साधू संतों की नाराजगी से योगी सरकार भी भली भांति वाकिफ है और लोकसभा चुनाव में उनकी नाराजगी कम हो जाये इसी के मद्देनजर सरकार ने यह घोषणा की है।

यह भी पढें:   पुल निर्माण से रास्ता बंद होने पर ग्रामीणों ने काटा हंगामा

यह भी पढें:   आनलाइन होगी पुलिसकर्मियों की ड्यूटी, एसपी ने तैयार किया खास ऐप

leave a reply

राज्यों के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी