पर्यावरण बचाने के लिए अग्निहोत्र के विज्ञान को जानने की जरूरत: महापौर

Foto

राज्यों के समाचार /States News

 

लखनऊ। माधव आश्रम सिहोर द्वारा अग्निहोत्र विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन रानीगंज में आयोजित किया गया जिसका उद्घाटन लखनऊ की महापौर संयुक्ता भाटिया ने द्वीप प्रज्वलित कर किया। इस मौके पर महापौर ने कहा कि पर्यायवरण के प्रदूषण को कम करने के लिए अग्निहोत्र बहुत ही आवश्यक है। इसकी पद्यति हमारे पूर्वजों में यज्ञों के माद्यम से हज़ारों साल पहले दी थी। 

 


आज भी वैज्ञानिक महत्व 

 

उसका आज वैज्ञानिक महत्व भी देखा जा सकता हैं। आगे महापौर ने कहा कि सभी को अग्निहोत्र अवश्य करना चाहिए और इसके प्रभाव से लोग परिचित भी हों ऐसी व्यवस्था भी संगठन के लोगों को करनी चाहिए। आयोजक शिव नारायण ने बताया कि सुबह- शाम निश्चित समय मे यज्ञ में मंत्रो द्वारा आहुति डालने से पर्यायवरण तो शुद्ध होता ही हैं, साथ ही घर का वातावरण भी सुगंधित होता है। इसका यह प्रभाव वैज्ञानिक अनुसंधानों से भी पता चलता हैं।

 


भेंट की पुस्तकें

 

इस मौके पर आयोजकों ने महापौर को अग्निहोत्र से संबंधित पुस्तके भी भेंट की। महापौर के वक्तव्यों को दर्शकों ने ध्यान से सुना और पर्यावरण को बचाने का संकल्प भी लिया। महापौर ने कहा कि पर्यावरण स्वच्छ रहने पर ही आने वाला भविष्य सुरक्षित रहेगा। पर्यावरण से मान जीवन पर अनुकूल और प्रतिकूल दोनों ही तरह का प्रभाव पढ़ता है। खासकर बच्चों में पर्यावरण को लेकर जगरूकता अधिक से अधिक लानी चाहिए। इस अवसर पर महापौर, साथ स्थानीय पार्षद शशि गुप्ता, शिव नारायण कश्यप, डॉ निशिकांत मिश्रा, प्रशांत गुप्ता, पूर्व पार्षद गिरीश गुप्ता, रिशु सोनी सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

 

यह भी पढ़े:    पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम का बड़ा सवाल, 36 विमान ही क्यों खरीदे?

 

यह भी पढ़े:    भव्य समारोह मे 17 को शपथ लेंगे कमलनाथ

leave a reply

राज्यों के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी