अंतराष्ट्रीय महिला दिवस पर कार्यक्रमों का आयोजन

Foto

राज्यों के समाचार/state news


सर्वजीत सिंह

श्रावस्ती। अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर कई तरह के कार्यक्रमों का अयोजन अलग अलग जगह किया गया। आज हर क्षेत्रों में लड़कियां बाजी मार रही हैं। इन्हें हर क्षेत्र में आगे बढ़ते हुए देखा जा सकता है। विभिन्न परीक्षाओं की मेरिट लिस्ट में लड़कियां तेजी से आगे बढ़ रही हैं। किसी समय इन्हें कमजोर समझा जाता था। अपनी मेहनत और मेधा शक्ति के बल पर हर क्षेत्र में प्रवीणता अर्जित कर ली है। इनकी इस प्रतिभा का सम्मान किया जाना चाहिए।


नारी का सारा जीवन पुरुष के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने में ही बीत जाता है। पहले पिता की छत्रछाया में उसका बचपन बीतता है। पिता के घर में भी उसे घर का कामकाज करना होता है तथा साथ ही अपनी पढ़ाई भी जारी रखनी होती है। उसका यह क्रम विवाह तक जारी रहता है। लेकिन अब यह चक्र लोगों के जागरूक होने से बदल गया है। लोग धीरे-धीरे अपने बेटों के साथ-साथ बेटियों को शिक्षित करने में लगे हुए हैं। इससे निश्चित ही अब हमारा देश और तरक्की करेगा।

भिनगा के जूनियर हाई स्कूल में एक संस्थान द्वारा महिलाओं और लड़कियों को जागरूक करने के लिए कार्यक्रम का आयोजन किया गया, विद्यालयों में रंगोली प्रतियोगिता आदि का आयोजन कर बच्चियों की सुरक्षा आदि की जानकारी दी गयी। दूसरी तरफ जिला मुख्यालय पर स्थित महिला थाने का प्रभारी पुरुष को बनाया गया हुआ है।


एक तरफ विभाग महिलाओं का सम्मान करने की बात कह रहा है, तो दूसरी तरफ महिलाओं की समस्याएं सुनने के लिए महिला के जगह पर पुरुष को बिठाया गया है।
पुलिस अधीक्षक ने कहा कि जिले में महिला पुलिसकर्मियों की कमी हैं। सिर्फ एक ही महिला SI मौजूद है, वह भी पारिवारिक जिम्मेदारी के चलते थाने का चार्ज नहीं ले रही है। हालांकि थाने में बाकी महिला सिपाही ही हैं। आई हुई महिलाओं की बात महिला सिपाही ही सुनती हैं।

 

यह भी पढ़ें: F-16 के दुरुपयोग मुद्दे पर घिरा पाकिस्तान

यह भी पढ़ें: अफजल गुरु के बेटे को भारतीय होने पर गर्व है!

leave a reply

राज्यों के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी