संतों को शांत करने के लिए केशव ने दिया बयान : राजभर

Foto

राज्यों के समाचार/state news

कैबिनेट मंत्री ने सिदूध के पाक जाने को बताया सही

लखनऊ। योगी सरकार के बड़बोले कैबिनेट मंत्री ने एक बार फिर अपने विवादित बयान से सियासी हलकों में माहौल गर्मा दिया है। इस मंत्री ने केशव मौर्या के राम मन्दिर को लेकर दिये गये बयान की खिलाफत तो की ही साथ ही पाक पीएम इमरान खान के शपथ ग्रहण में पूर्व क्रिकेटर सिदूध के जाने व वहां के सेना प्रमुख से गले मिलने को भी सही ठहरा दिया है उन्होने कहा कि जब पीएम मोदी वहां जाकर चादर चढ़ा सकते हैं तो फिर सिदूध ने गलत क्या किया है?

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री और सहयोगी दल सुभासपा के प्रमुख ओम प्रकाश राजभर बुधवार को संत कबीर नगर पहुंचे इस दौरान उन्होंने राम मंदिर मसले से लेकर नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान दौरे पर अपनी राय रखी।

 

ये भी पढ़ें:   बढ़ते अपराध पर सीएम खफा, पुलिस अफसरों की लगाई क्लास

 

कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के राम मंदिर पर दिए बयान पर कहा कि अयोध्या मामला अभी कोर्ट में विचाराधीन है साधु संत आक्रोशित हैं औऱ जगह-जगह साधु-संत आंदोलन कर रहे हैं साधु-संतों के गुस्से को शांत करने के लिए केशव प्रसाद मौर्य इस तरह का बयान दे रहे हैंI

उन्होंने कहा कि इस मामले के हल का दो ही ऑप्शन हैं एक या तो आपसी रजामन्दी से इसका हल होगा या कोर्ट के फैसले से,तीसरा कोई आॅप्शन नहीं है।

वहीं राम मन्दिर बनने के सवाल पर ओम प्रकाश राजभर ने पूछा कि मन्दिर बनने से क्या सबको शिक्षा,रोजगार मिल जाएगा? उन्होंने कहा कि न हम मन्दिर के पक्ष में हैं,न मस्जिद के पक्ष में हैं मन्दिर के मुद्दे पर सिर्फ झगड़ा पाला जा रहा है।

 

ये भी पढ़ें:   सीएम योगी आदित्यनाथ ने 12 बसों में भेजी केरल को मदद

 

वहीं कांग्रेस के नेता नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान जाने पर ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि इसमें कोई बुराई नहीं है सिद्धू भी क्रिकेटर रहे हैं और पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान भी क्रिकेटर रहे हैं उन्होंने कहा पाकिस्तानी सेना के जनरल से गले मिलकर नवजोत सिंह सिद्दू ने शिष्टाचार निभाया है, इसमें कोई हर्ज नहीं है।  ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि मोदी जी जाकर चादर चढ़ाते हैं तो कोई बात नहीं होती. नवजोत सिंह सिद्दू चले गए तो बवाल क्यों हो रहा है।

leave a reply

राज्यों के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी