एक दर्जन से अधिक गोवंश कटे मिलने से मचा हड़कंप

Foto

राज्यों के समाचार/state news

बंथरा के गुदौली पशु आश्रय केंद्र में हुई घटना,एडीओ ने दिया गैर जिम्मेदराना बयान

राहुल तिवारी

लखनऊ। बंथरा ईलाके में बने पशु आश्रय केंद्र से चंद कदम की दूरी पर एक दर्जन से अधिक गौवंश के कटे हुए अवशेष मिलने से पूरे क्षेत्र में हड़कम्प मच गया है। सूचना पर बंथरा पुलिस के साथ कई आलाधिकारी मौके पंहुच गये। जहां इस घटना से क्षेत्रीय लोगों में कड़ा रोष है वहीं एडीओ पंचायत कौशल कुमार से जब हमारे संवाददाता ने बता की तो उन्होने  काफी गैर जिम्मेदाराना जवाब देते हुए कहा कि जंगल में पशु आश्रय केंद्र बना है ये कहो वहां पर आदमी नही गया नही तो उसकी हत्या हो जाती। एडीओ ने तो यही मानने से इंकार कर दिया कि जानवर पशु आश्रय केंद्र के हैं जबकि वहां के गार्ड का कहना है कि उसने रात में 60 जानवरों की गिनती की थी और सुबह जानवरों की संख्या 38 ही मिली।

उत्तर प्रदेश में जब योगी सरकार बनी उसके कुछ दिन ही बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोगों को यह भरोसा दिलाया कि अब समूचे पूरे प्रदेश में एक भी गाय नहीं कटेगी। इसके लिए सरकार ने बाकायदा गौवंश को रोकने के लिए गौशाला खुलवाये जिसके चलते तमाम विभागों पर सेस भी लगाया गया।

जिसके बावजूद आज राजधानी के थाना क्षेत्र बन्थरा में बनी मोहान मार्ग पर स्थित गुदौली ग्राम सभा में बने पशु आश्रय केन्द्र में बन्द लगभग एक दर्जन गौवंशो के अवशेष पशु आश्रय केन्द्र से चन्द्र कदम की दूरी पर लगभग एक दर्जन गौवंशो के अवशेष मिलने से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया।

ग्रामीणों के मुताबिक सभी गौवंश लगभग एक माह से गौशाला में बन्द है गौशाला के चौकीदार श्रवण ने बताया कि मैंने कल शाम को गिनती की थी तो ६० जानवर थे और आज सुबह ३८ जानवर है। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे क्षेत्राधिकारी सरोजनी नगर लाल प्रताप सिंह ने आक्रोषित जनता को समझा बुझाकर शांत कराया एवं घटना की जांच कर आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज सख्त कार्रवाई के लिए भी कहा।

घटना स्थल पर प्रभारी बन्थरा रमेश सिंह रावत, थाना प्रभारी सरोजनी नगर सहित भारी संख्या में पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पंहुचे और जांच पड़ताल की।क्षेत्र में व्याप्त तनाव को देखते हुए वहां भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

क्षेत्राधिकारी लाल प्रताप सिंह के मुताबिक घटना का खुलासा करने के लिए टीम लगा दी गई है।अब आखिर कार सवाल यह उठता है जिन गौवंशो की सुरक्षा के लिए योगी सरकार ने हर न्याय पंचायत स्तर पर गौ आश्रय केन्द्र खुलवाये है अगर वही पर गौ वंश काटे जा रहे हैं तो यह अधिकारियों की लापरवाही को साफ दर्शाता है। पशु आश्रय केन्द्र में नियुक्त चौकीदार जगन्नाथ उर्फ जुगनू की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ गौ वध अधिनियम ३/५/८ में मुकदमा पंजीकृत किया गया है।

यह भी पढ़ें:   रेलवे दुर्घटना उपरांत बचाव व सुरक्षा का प्रशिक्षण

यह भी पढ़ें:    सपा समर्थकों की प्रशासन से हुई झड़प, मुकदमा दर्ज

leave a reply

राज्यों के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी