loader

आखिर क्यों होता है स्मार्टफोन में पॉवर सेविंग मोड

Foto

टेक्नोलॉजी के समाचार/ TECHNOLOGY NEWS

 

नई दिल्ली। क्या आपने कभी गौर किया है कि एंड्रॉइड स्मार्टफोन में Power saving mode दिया जाता है। जब भी आप अपने फोन के क्विक सेटिंग मैन्यु पर टैप करते हैं वहां आपको यह ऑप्शन दिखाई देगा। क्या आपने इस मोड का कभी इस्तेमाल किया है? या फिर जानने की कोशिश की है कि यह मोड स्मार्टफोन में क्यों दिया जाता है? आज हम आपको बताने जा रहे हैं इस मोड को स्मार्टफोन में क्यो दिया जाता है और इसका इस्तेमाल आप किस तरह से कर सकते हैं।

 

ये भी पढ़ें- सुरक्षा प्रणाली कमजोर होने से बढ़े साइबर हमले 

 

दरअसल, Power saving mode एक ऐसा फीचर है जिसकी मदद से आप अपने स्मार्टफोन की बैटरी को जल्दी खत्म होने से बचा सकते हैं। जैसा की नाम से ही साफ है यह आपको स्मार्टफोन के पावर को सेव करता है। यह फीचर एंड्रॉइड स्मार्टफोन के बैटरी को हर वक्त मॉनिटर करते रहती है और एक तय लिमिट तक बैटरी खपत होने के बाद अपने आप एक्टिवेट हो जाता है। इस मोड के एक्टिवेट होने के बाद यह आपके स्मार्टफोन के गैर जरूरी ऐप्स को डिसेबल कर देता है। जैसे ही आप अपने स्मार्चफोन को चार्ज करेंगे तो यह मोड अपने आप हट जाता है। इस फीचर को इनेबल करने के लिए आपको अपने फोन की सेटिंग्स में जाकर इनेबल करना होता है।

 

ये भी पढ़ें- 5G स्मार्टफोन के लिए यह कंपनी बनाएगी चिप्स...

 

अगर, आप अपने स्मार्टफोन में यह फीचर इनेबल नहीं करते हैं तो आपका स्मार्टफोन जल्दी डिस्चार्ज होगा। यह फीचर आपके स्मार्टफोन के बैटरी को बचाने में आपकी मदद कर सकता है। यह ऑप्शन आपको क्विक सेटिंग मैन्यु में दिया जाता है। आप इसे कभी भी टैप करके इनेबल या डिसेबल कर सकते हैं। इसे इनेबल करने से आपके स्मार्टफोन की बैटरी बच जाती है। आपकी बैटरी जल्दी खराब भी नहीं होती है।

 

 

 

leave a reply

टेक्नोलॉजी

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी