रेलवे की नई पहलः इस एप से टिकट बुकिंग करने मिलेगा फायदा 

Foto

 

टेक्नॉलॉजी /Technology

 

नई दिल्ली। अब रेलवे का सफर करना हुआ और भी आनंददायक क्योंकि रेलवे जल्द आपको एक नया तोहफा देने जा रहा है। इस  नई सुविधा के तहत आईआरसीटीसी के रेल कनेक्ट एप या वेबसाइट से टिकट बुकिंग कराने के लिए अब आपको किसी अन्य थर्ड पार्टी वेंडर के डिजीटल वॉलेट की जरूरत नहीं पड़ेगी। बता दें कि रेलवे की तरफ से यात्रियों को सहूलियत देने के लिए नई-नई सुविधाएं। खोजी जा रही हैं। पिछले दिनों रेलवे ने 'रेलवे मदद' और 'मेन्यू ऑन रेल' एप की की शुरुआत की गई थी।

इस नई सुविधा में  रेलवे खुद का पेमेंट एग्रीगेटर लाने की तैयारी कर रहा है। इसके बाद टिकट बुक कराने के लिए बैंक कार्ड या कैश वॉलेट की जरूरत नहीं होगी।इस पेमेंट एग्रीगेटर का नाम आईआरसीटीसी आईपे (IRCTC-iPay) होगा। हाल ही में आईआरसीटीसी ने इस बारे में ट्विटर पर जानकारी दी गई।इस एग्रीगेटर एप के शुरू होने के बाद ऑनलाइन फ्रॉड की घटनाओं में कमी आ सकती है।

 

यह भी पढ़ें-हेल्प मी डियर' ऐप  रेल-सड़क हादसों में घायलों को देगा तुरंत मदद 

 

पेमेंट एग्रीगेटर IRCTC-iPay की सुविधा आईआरसीटीसी की ऑफिशियल वेबसाइट पर मिली जानकारी के अनुसार  इस साल अगस्त से मिलनी शुरू हो जाएगी। पेमेंट एग्रीगेटर एप में कई पेमेंट ऑप्शन क्रेडिट कार्ड,डेबिट कार्ड, इंटरनेशल कार्ड,ऑटो डेबिट, यूपीआई, वॉलेट आदि का आप्शन होगा।ट्विट के माध्यम से जानकारी दी गई कि पेमेंट एग्रीगेटर के लिए आईआरसीटीसी को PCI-DSS (पेमेंट कार्ड इंडस्ट्री डाटा सिक्युरिटी स्टैंडर्ड) से सिक्युरिटी सर्टिफिकेट मिल गया है। पेमेंट प्लेटफॉर्म के बारे में अन्य जानकारियों के बारे में बाद में बताया जाएगा।

यह भी पढ़ें-आई-ट्रैकिंग तकनीक लांच करेगा फेसबुक... 

इसके अतिरिक्त आईआरसीटीसी की तरफ से आईआरसीटीसी एसबीआई कार्ड भी मुहैया भी जारी किया जाता हैं। इसके माध्यम से एसी 1, एसी 11 और चेयर कार की बुकिंग कराने पर 10 प्रतिशत तक कैश  बैक भी दिया जाता है। साथ ही इस कार्ड से टिकट कराने पर हर ट्रांजेक्शन पर लगने वाला 1.8 प्रतिशत टैक्स भी बचाया जा सकता है।एसबीआई प्लेटिनम डेबिट कार्ड से आप गैर-ईंधन खरीदारी पर रिवॉर्ड प्वाइंट भी हासिल कर सकते हैं।इन रिवॉर्ड प्वाइंट का इस्तेमाल बाद में आईआरसीटीसी पर टिकट बुक करने के लिए किया जा सकता है।

leave a reply

टेक्नोलॉजी

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी