अब ड्राइविंग लाइसेंस पाने के लिए दर्ज कराना होगा मोबइल नंबर

Foto

लखनऊ। लर्निंग एवं परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) के आवेदन के दौरान आवेदक को घर का मोबाइल नंबर भी दर्ज कराना होगा अब से आवेदक को अपने मोबाइल नंबर के साथ साथ अपने माता पिता या भाई बहन के मोबाइल नंबर की भी जानकारी देनी होगी तभी आवेदक का आवेदन स्वीकार नहीं किया जाएगा। यह मोबाइल नंबर डायल पर आपातकाल संपर्क नंबर के रूप में लिखा जाएगा आपको बता दें कि परिवहन विभाग ने ड्राइविंग लाइसेंस जारी करने की य​ह एक नई व्यवस्था बनाई है।

जाने क्यों, दर्ज कराने होंगे मोबाइल नंबर

इस नई व्यवस्था के तहत प्रदेश भर के आरटीओ कार्यालय से जारी होने वाली ड्राइविंग लाइसेंस मुख्यालय से जारी होना शुरू हो गए हैं साथ ही सड़क परिवहन मंत्रालय के निर्देश पर देश भर में एक ही डिवीजन के ड्राइविंग लाइसेंस जारी होंगे। इस क्रम में डीजल आवेदन के दौरान कई जरूरी सूचनाएं भी दर्ज करनी होगी जैसे खुद के मोबाइल नंबर के साथ परिजन का मोबाइल नंबर दर्ज होगा 

मोबाइल नंबर होगा अनिवार्य 

15 अप्रैल से आनलाइन डीएल आवेदन पर आवेदकों को परिजन का मोबाइल नंबर फार्म में भरना जरूरी रहेगा साथ ही इस सम्बंध में परिवहन विभाग के आईटी सेल एवं वरिष्ठ अधिकारियों की ओर से एक पत्र एनआईसी दिल्ली को भी भेज दिया गया है। 

ड्राइविंग लाइसेंस घरों के इमरजेंसी मोबाइल नंबर दर्ज करने के पीछे की मंशा यह है कि लापरवाही से वाहन चलाने वाले के खिलाफ कार्रवाई की जानकारी घर वालों को मिल सके साथ ही सड़क दुर्घटना होने अथवा वाहन से किए गए अपराध की सूचना परिजनों को देना आसान हो जाएगा यह नई व्यवस्था से काफी हद तक लापरवाही से वाहन चलने सड़क दुर्घटना होने और अपराध रोकने की तत्काल जानकारी परिजनों को मिल जाएगी। 

leave a reply

ट्रेवल

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी