खुशखबरी, लखनऊ और कानपूर के बीच का सफर तय होगा अब सिर्फ 40 मिनट में

Foto

लखनऊ। सूबे के दो बड़े शहरों कानपुर और लखनऊ के बीच का रेल सफर आने वालों दिनों में 40 मिनट में पूरा किया जा सकेगा। फिलहाल अभी यह सफर लगभग डेढ़ घंटे या इससे ज्यादा समय में पूरा होता है। औसतन 70 से 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से दौड़ रहीं ट्रेनों को 140 की गति से दौड़ाया जाएगा। इसके लिए मौजूद ट्रैक को सेमी हाई स्पीड ट्रैक में तब्दील किया जा रहा है। नए ट्रैक और स्लीपर का वजन पूर्व से आठ किलो ज्यादा है। ट्रैक तैयार करने में करीब ढ़ाई सौ करोड़ रूपए खर्च हो रहा है।  

लखनऊ कानपुर रूट अति व्यस्त मार्गों में शामिल है। मुंबई और बनारस के लिए अहम 70 किमी के सफर में एक्सप्रेस ट्रेनों की अधिकतम चाल है। तो 110 किमी प्रति घंटा मगर ट्रैक जर्जर होने से औसतन चाल 70 से 80 किमी प्रति घंटा है। नई दिल्ली लखनऊ शताब्दी एक्सप्रेस को भी पहुंचने में सवा घंटे से ज्यादा समय लगता है।    

पैसेंजर एवं लोकल ट्रेनों का हाल और भी ज्यादा खराब है। वर्ष 2002 के बाद ट्रेनों की संख्या लेकिन पटरियों का वजन नहीं बढ़ सका इसी कमी की वजह से ट्रेनों की चाल भी सुस्त पड़ी है। रेलवे अब वजनदार स्लीपर व पटरियों कसे बिछा रहा है। अभी तक यहां पटरी का वजन 52 किलो है। 

leave a reply

ट्रेवल

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी