पाक की काली करतूत का वीडियो ने किया भांडाफोड़, महिला ने कहा हिन्दुओं के साथ...

Foto

 

विश्व के समाचार/World news

 

इस्लामाबाद। पाकिस्तान चोरी छिपे घुसपैठ, नापाक आतंकी साजिश जैसे काले कारनामों को अंजाम ​देता रहा है। उसकी यह पोल कई बार खुलकर सामने भी आ चुका है। अब पाक की एक और काली करतूत का भांडाफोड़ महिला के वायरल किए वीडियो में हुआ है। इस वीडियो में पाक का चेहरा पूरी तरह से बेनकाब हो चुका है। इसके बाद भी पाकिस्तान अपनी ईमानदारी के झूठे सबूतों को देने में मस्त रहता है। पाकिस्तान आतंकियों का गढ़ तो बना ही हुआ है, यहां हिन्दुओं के साथ घिनौनी करतूतों को अंजाम देने की सीमा को पर करने से बाज नहीं आता। कुछ इसी तरह का वीडियो वायरल करते हुए महिला ने दर्द बयां किया है। वीडियो के वायरल होने के बाद से पाक कि किरकिरी होने लगी है।

 

यह भी पढ़ें...डोनाल्ड ट्रंप के वकील मुलर के सवालों का जवाब कर रहे तैयार

 

संपत्ति पर जबरन कब्जा

 

पाकिस्तान में रह रहे हिन्दुओं की संपत्ति पर जबरन कब्जा कर लिया जा रहा है। हिन्दुओं के साथ जुल्म की सारी हदों को पार करने से भी संकोच नहीं कर रहा। महिला प्रोफेसर ने वीडियो के जरिए पाकिस्तान की घिनौनी करतूत को सामने लाने की हिम्मत जुटाई है। वीडियो में महिला ने आरोप लगाया है कि पाकिस्तान में हिदुओं का शोषण चरम पर होता है। हिन्दुओं की संपत्ति पर कब्जा कर लिया जाता है। 

 

जबरन बेदखल 

 

वीडियो में पाकिस्तान की सच्चाई बयां करते हुए बोलने वाली महिला डॉ. भगवान देवी पाकिस्तान की रिटायर्ड प्रोफेसर हैं। भगवान सिंध प्रांत के लाड़काना में रहती हैं। वीडियो में वह कहती नजर आ रही हैं कि भू-माफियाओं ने सिंध के कई क्षेत्रों में अपनी ताकत बढ़ा ली है। हिन्दुओं को जबरन उनकी संपत्ति से बेदखल किया जा रहा है। हिन्दुओं के साथ अत्याचार का यह सिलसिला भू-माफियाओं को  झूठा 'पावर ऑफ अटॉर्नी' बनाकर किया जा रहा है। वह यह भी कह रही हैं कि उनकी जमीनों पर भू-माफिया जबरन कब्जा कर रहे हैं। कुछ भी विरोध में बोलने पर धमकियां दे रहे हैं। पाकिस्तान की इस करतूत से परेशान लाड़काना के हिंदू अपनी संपत्ति को बेचकर मजबूरन दूसरे देश को पलायान कर रहे हैं। 

 

यह भी पढ़ें...निक्की हेली ने छोड़ा अमेरिकी राजदूत का पद, ट्रंप ने बताया असाधारण शख्सियत

 

अधिकारियों की मिलीभगत

 

पीड़िता प्रोफेसर के मुताबिक सिंध के आला अफसर भी इस मामले में कुछ बोलने को तैयार नहीं हैं। भू-माफियाओं से पुलिस की सांठ-गांठ है। पुलिस से न्याय नहीं मिलने पर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाकर न्याय की गुहार लगाई है। इस पर चीफ जस्टिन ने मामले को गंभीरता से लेते हुए सिंध के अधिकारियों को नोटिस भेजकर जवाब तलब किया है। कोर्ट ने कहा है कि प्रोफेसर की याचिका पर विचार किया जाएगा। साथ ही कोर्ट ने सुनवाई की तारीख 18 अक्तूबर निर्धारित की है।

leave a reply

विश्व के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी